नई दिल्ली: गृह मंत्रालय की ओर से एक नोटिफिकेशन जारी किया गया है जिसके अनुसार, कट्टरपंथी इस्लामी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) की आतंकी फंडिंग व अन्य गतिविधियों के चलते भारत में पांच साल के लिए बैन लगा दिया है। इसके साथ ही PFI के सहयोगी संगठन रिहैब इंडिया फाउंडेशन, कैंपस फ्रंट ऑफ इंडिया, ऑल इंडिया इमाम काउंसिल, नेशनल कॉन्फेडरेशन ऑफ ह्यूमन राइट्स ऑर्गनाइजेशन, नेशनल विमेन फ्रंट, एम्पावर इंडिया फाउंडेशन, रिहैब फाउंडेशन(केरल) और जूनियर फ्रंट को भी प्रतिबंधित किया गया है।

दो सौ से भी ज्यादा लोग गिरफ्तार
यूएपीए एक्ट के तहत इस संगठन पर प्रतिबंध लगाया गया है। बता दें कि PFI एक कट्टरपंथी संगठन है। 2017 में NIA ने गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर इस संगठन पर प्रतिबंध लगाने की मांग की थी। NIA की जांच में इस संगठन के कथित रूप से हिंसक और आतंकी गतिविधियों में लिप्त होने के बात आई थी। NIA के डोजियर के मुताबिक यह संगठन राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा माना गया। बता दें कि हाल में सुरक्षा एजेंसियों ने कई राज्यों में PFI से जुड़े ठिकानों कार्रवाई की है। साथ ही, दो सौ से भी ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया है।

गिरिराज सिंह ने लिखा बाय-बाय
PFI पर पांच साल का प्रतिबंध लगने के बाद केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ट्वीट किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि बाय-बाय पीएफआई। इसके अलावा उन्होंने गृह मंत्रालय की अधिसूचना की कॉपी भी साझा की है।