रायपुरः आज का पंचांग 27 सितंबर 2022 दिन मंगलवार आश्विन शुक्ल पक्ष द्वितीया तिथि रात 2 बजकर 28 मिनट तक है। विक्रम संवत 2079, शक संवत 1944 और सूर्य दक्षिणायन का है। नक्षत्र हस्त 6 बजकर 16 मिनट तक और चंद्रमा कन्या राशि में है। आज का राहुकाल दोपहर 2 बजकर 55 मिनट से 4 बजकर 25 मिनट तक रहेगा। आज ज्योतिषाचार्य अंजु सिंह परिहार बता रही हैं राशि अनुसार बच्चों के प्रांरभिक शिक्षा और चरित्र निर्माण के उपाय।

मेषः मेष राशि वाले बच्चों के लिए उनके चरित्र निमार्ण के लिए कारक ग्रह है बुध। बुध ग्रह को अनुकूल कर जीवन में अनुशासन और आज्ञापालन लाया जा सकता है, जिससे सफलता तथा समृद्धि प्राप्त होती है। इस के लिए माता के मंदिर के आस-पास औषधीय पौधे लगायें। इलायची माता के चरणों में रखें तथा मां के ब्रह्मचारिणी स्वरूप मंत्र का जाप करें।

वृषभः इस राशि वाले जातकों को संतान से संबंधित चरित्र निर्माण का सहायक ग्रह है चंद्रमा तथा चंद्रमा की प्रसन्नता के लिए मां के मंदिर में चीनी का दान करें तथा चांदी की गाय और बछिया का दान करें तथा भोग में नारियल के लड्डू चढ़ायें।

मिथुनः मिथुन राशि वाले जातकों को संतान के चरित्र को उत्तम बनाने के लिए इस राशि वाले तीसरे स्थान के ग्रह सिंह राशि का उपाय करना चाहिए, जिसमें माता के मंदिर में लाल चुनरिया चढ़ाकर उनके मुखवास के लिए गुड़ तथा गेहूं से बनी मिठाईयां अर्पित करें।

कर्कः इस राशि वाले जातकों के संतान को उत्तम चरित्र प्राप्त हो और वह अपने जीवन में सफल तथा समृद्ध बने इसके लिए उन्हें मूंग का हलवा और तुलसी दल माता के चरणों में अर्पित करना चाहिए।

सिंहः इस राशि वाले जातकों को संतान से संबंधित चरित्र निर्माण और उत्तम गुणों का वास करने के लिए मां को सुहाग की सामग्री और शंख को माता के चरणों में अपर्ण करना चाहिए।

कन्याः कन्या राशि वाले जातकों को अपने संतान को संपूर्ण व्यवहारिक और संसारिक जीवन में श्रेष्ठ बनाने के लिए सिंदूर और चोला चढ़ाना चाहिए।

तुलाः तुला राशि वाले जातकों को अपने संतान के चरित्र को आर्दश रूप देने के लिए माता के चरणों में पितांबर वस्त्र और बेसन के लड्डू अर्पित करना चाहिए।

वृश्चिकः इस राशि वाले जातकों को अपने बच्चों को उत्तम चरित्र तथा सफल एवं शांत जीवन प्राप्त करने में मदद के लिए तिल और गुड़ से बने प्रसाद तथा तिल का तेल अर्पित करना चाहिए।

धनुः इस राशि वाले जातकों को अपने संतान को समृद्ध और अहंकारहीन बनाने के लिए माता को नीले वस्त्र तथा आसन अर्पित करना चाहिए।

मकरः इस राशि वाले जातकों को अपने संतान को उत्तम चरित्र निर्माण में मदद के लिए सप्तधान्य तथा पीले पुष्प अर्पित करना चाहिए।

कुंभः कुंभ राशि वाले जातकों को अपने संतान के चरित्र को समाज में पूजनीय बनाने के लिए घर में बने मालपूएं और लाल वस्त्र माता को अर्पित करें।

मीनः इस राशि वाले जातको को चाहिए कि वे अपनी संतान को संपूर्ण अनुशासन सिखाने के साथ ही उनके जीवन में चरित्र की उत्तम स्थिति बनायें रखने के लिए माता को सुनहरी श्वेत साड़ी और हरी पीली चुड़िया चढ़ायें।

डिस्क्लेमर: इस लेख में दी गई जानकारी प्रचलित मान्यताओं, धर्मग्रंथों और ज्योतिष शास्त्र के आधार पर ज्योतिषाचार्य डॉ. अंजु सिंह परिहार का निजी आकलन है। आप उनसे मोबाइल नंबर 9285303900 पर संपर्क कर सकते हैं। सलाह पर अमल करने से पहले उनकी राय जरूर लें।