ओडिशा के केंदुझर जिला अस्पताल में बीते 24 घंटे के दौरान इलाजरत तीन बच्चों की मौत का मामला सामने आया है। दावा किया जा रहा है कि इन तीन बच्चों की मौत के साथ ही बीते 18 दिन में इस अस्पताल में इलाज करा रहे कम से कम 13 बच्चों ने अपनी जान गंवाई है। परिजनों ने चिकित्सकीय लापरवाही होने की वजह बताई है।

इधर एडीएमओ किशरो पृष्टि ने मीडियो को बताया कि पिछले 24 घंटे में तीन बच्चों की मौत हुई है। बीते 18 दिनों में 13 बच्चों की मौत हुई है। सितंबर में कुल 122 बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उनमें से 13 की मौत हो चुकी है। इस बीच स्वास्थ्य केंद्र में तनाव बढ़ने पर स्थानीय एसडीपीओ व सीडीएमओ अस्पताल पहुंचे। रिश्तेदार मिथुन नायक ने बताया कि अस्पताल में आपात स्थिकि के लिए डॉक्टर और नर्स हमेशा उपलब्ध रहने चाहिए, लेकिन वे मौजूद नहीं थे।

वहीं एक मृत बच्चे के रिश्तेदार मिथुन नायक ने आरोप लगाया कि मेरे छोटे भाई के बेटे को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। डॉक्टर और नर्सों की लापरवाही के कारण उसकी मृत्यु हो गई। उन्होंने कहा कि बच्चे को आईसीयू में भर्ती कराया गया था, लेकिन समय पर ऑक्सीजन नहीं मिलने की वजह से उसकी मौत हो गई।

बच्चों की मौत को लेकर लोगों ने चिकित्सकों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर आंदोलन किया, जिसके बाद प्रदेश के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री एनके दास ने रविवार को बच्चों की मौत पर रिपोर्ट मांगी। मंत्री ने कहा कि यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। हमें बच्चों की मौत के कारणों का पता लगाना चाहिए। मैंने जिले के अधिकारियों से घटना के पीछे के कारणों का पता लगाने को कहा है।