हांगकांग: कोरोना वायरस कोविड-19 से देशभर में हड़कंप मचा हुआ है। कोरोना की तीसरी लहर ढलान की ओर है अब वहीँ चौथी लहर ने लोगों की चिंता बढ़ा दी हैं। क्या हांगकांग से उठेगी कोरोना की नई लहर? इस कॉमर्शियल सिटी में नए आंकड़े तो इसी बात की गवाही दे रहे हैं। हांगकांग में सोमवार को अब तक सबसे ज्यादा कोरोना के रिकॉर्ड 34,466 नए मामले दर्ज किए गए। शहर में कोरोना से पहले ही मौतें हो रही हैं। इस बीच स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि हांगकांग में लॉकडॉउन से इंकार नहीं किया जा सकता है। हालांकि ये खबर ऐसे समय में आई है जब पिछले हफ्ते शहर के नेता ने कहा था कि शहर भर में लॉकडाउन लगाने में कोई सच्चाई नहीं है।

हांगकांग वर्तमान में कोरोना वायरस की पांचवीं लहर से जूझ रहा है, जो मुख्य रूप से ओमिक्रॉन वेरिएंट के चलते आई है। सोमवार के 34,000 से अधिक मामले एक सप्ताह पहले की तुलना में चौगुने से अधिक हैं। एक सप्ताह पहले शहर में 7,500 से अधिक संक्रमणों के मामले दर्ज किए गए थे।

शहर के सेंटर फॉर हेल्थ प्रोटेक्शन के प्रमुख चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी अल्बर्ट एयू ने दैनिक वायरस ब्रीफिंग के दौरान कहा, "हर तीन दिनों में मामले की संख्या दोगुनी हो जाएगी। हमें लगता है कि संख्या बढ़ती रहेगी।" शहर में सोमवार को 87 लोगों की मौत भी हुई। 87 मौतों में से 67 का टीकाकरण नहीं हुआ था।

स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि सरकार द्वारा ऐसे उपाय किए जा सकते हैं जिनमें "लोगों को घर पर रहने के लिए कहा" जा सकता है। हालांकि ये देखा जाना बाकी है कि क्या ऐसे उपाय कानून या अन्य माध्यमों से किए जाएंगे।

हांगकांग की स्वास्थ्य मंत्री सोफिया चान ने सोमवार को एक रेडियो कार्यक्रम के दौरान कहा कि सरकार लोगों की आवाजाही को कम करने और सामूहिक टेस्टिंग के प्रभाव को अधिकतम करने के लिए लॉकडाउन के मामले पर "अभी भी चर्चा" कर रही है।

इस बीच अधिकारियों ने सोशल डिस्टेंसिंग उपायों को बढ़ा दिया है, जैसे कि अप्रैल तक शाम 6 बजे के बाद बाहर डिनर करने पर बैन, और छात्रों के लिए गर्मियों की छुट्टियों को मार्च तक आगे बढ़ा दिया ताकि स्कूलों को परीक्षण केंद्रों, आइसोलेशन सुविधाओं और टीकाकरण परिसर में बदल दिया जा सके। जिन छात्रों की छुट्टियां आगे बढ़ाई गई हैं, उनके गर्मियों के दौरान स्कूल जाने की संभावना है, हालांकि शहर के अंतरराष्ट्रीय स्कूल प्रभावित नहीं हैं।