उदयपुरः राजस्थान के उदयपुर में बेरहमी से एक दर्जी की हत्या कर दी गई। कन्हैया लाल नाम का दर्जी भाजपा की पूर्व नेत्री नूपुर शर्मा का समर्थन करता था। अपराधियों ने उसकी दुकान में घुसकर उसका गला रेत दिया।

नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट करने पर कन्हैया लाल से नाराज दो लोग उसकी दुकान में घुस आए। दोनों हत्यारों ने चाकू और तलवार लहराकर वीडियो बना कर चुनौती दी। यह वीडियो इतना घृणित है कि हम इसे आपको नहीं दिखा सकते। हत्यारे वीडियो में बोल रहे हैं कि "एक का सर मैंने काटा है बाकि लोगों का सर आपलोग काटना शुरू करो।" इस वीडियो में प्रधानमंत्री मोदी को लेकर भी आपत्तिजनक बातें की गई हैं।


कन्हैया लाल विलास इलाके का रहने वाला था। करीब 10 दिन पहले उसने नुपूर शर्मा के समर्थन में पोस्ट किया था। इसके बाद से एक समुदाय के लोग उसे धमकी दे रहे थे। इसके बाद उसने थाने में नामजद शिकायत की लेकिन पुलिस ने मामले को गंभीरता से नहीं लिया। 

हत्या के विरोध में प्रदर्शन

उदयपुर हत्याकांड के बाद लोगों ने सड़कों पर आकर अपना विरोध दर्ज कराया। घटना के बाद मालदास बाजार में दुकानें बंद कर दी गई हैं।


उदयपुर के कलेक्टर ताराचंद मीणा ने कहा कि अपराधी की कोई जाति नहीं होती है। कानून अपना काम कर रहा है और आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होगी। पीड़ित परिवार को यथासंभव सहायता प्रदान की जाएगी। जो प्रावधान हैं उसके अंतर्गत कार्रवाई होगी।


राजस्थान के मुख्यमंत्री की अपील

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि "यह बेहद चिंता की बात है। इस प्रकार से किसी की हत्या कर देना दुखद और शर्मनाक है। माहौल ठीक करने की जरूरत है। पूरे देश में तनाव का माहौल बन गया है। मैं बार-बार पीएम और गृह मंत्री को बोलता हूं कि देश को संबोधित करें। पीएम को अपील करनी चाहिए कि हम किसी भी कीमत पर हिंसा को बर्दाश्त नहीं करेंगे। सब प्रेम और भाईचारे से रहें।"


उन्होंने ये भी कहा कि "उदयपुर की ये घटना मामूली घटना नहीं है, ये कल्पना से बाहर है कि कोई व्यक्ति ऐसा भी कर सकता है। हम चाहते हैं कि ऐसे समय में तनाव पैदा न हो, सब मिलकर शांति से रहें। दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। पुलिस लगी हुई है, जल्द गिरफ़्तारी की जाएगी। कोई कमी नहीं रखेंगे।"