नई दिल्ली: एक कामवाली को परिवार ने न सिर्फ निर्वस्त्र कर बंधक बनाया बल्कि उसकी पिटाई भी कर दी। दरअसल, साउथ दिल्ली में आरोपियों ने घर में 10 महीने पहले हुई चोरी का पता लगाने के लिए एक तांत्रिक को बुलाया था। तंत्र-मंत्र के बाद तांत्रिक ने पीड़ित महिला को चोरी का दोषी करार दिया था।

अपमान से तंग आकर महिला ने खा लिया चूहा मार जहर
इसके बाद घरेलू सहायिका की सजा तय की गई। सजा के तौर पर महिला को निर्वस्त्र कर कमरे में बंद कर पीटा गया, इस अपमान से तंग आकर महिला ने चूहे मारने वाली दवा खा ली और उसकी तबीयत बिगड़ गई। तुरंत ही आरोपियों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया। घटना की सूचना मिलते ही मैदानगढ़ी थाना पुलिस मौके पर पहुंची और पीड़िता का बयान दर्ज कर जांच शुरू की।

ऐसे किया तांत्रिक ने तंत्र क्रिया
पुलिस अधिकारी के मुताबिक, 43 साल की पीड़िता अपने परिवार के साथ अंसल विला, सतबारी स्थित एक कोठी में रहती है। यहां वह पिछले दो साल से घरेलू कामकाज कर रही थी। इसी बीच, 10 माह पहले इस कोठी में चोरी हो जाती है। चोर का पता लगाने के लिए 9 अगस्त को मालकिन ने एक तांत्रिक को बुलाया। तांत्रिक ने तंत्र क्रिया शुरू की और मालकिन को चावल-चूना देकर सभी घरेलू नौकरों को खिलाने के लिए कहा। तांत्रिक ने कहा- इसे खाने के बाद जिसका मुंह लाल हो जाएगा, वही चोर होगा। चावल खाने के बाद पीड़िता का मुंह लाल हो गया, इसके बाद मालकिन ने उसकी जमकर पिटाई की।

इतना ही नहीं, निर्वस्त्र कर उसे एक कमरे में 24 घंटे से ज्यादा बंधक बनाए रखा। पीड़िता 10 अगस्त की शाम को शौच करने के बहाने बाथरूम में गई, जहां उसने चूहे मारने की दवा खा ली। पुलिस ने इस मामले में 11 अगस्त को केस दर्ज किया है। अब पीड़िता के परिजनों ने पुलिस पर हल्की धाराओं में केस दर्ज करने का आरोप लगाया है।